Khattar Govt meets another demand of Akhil Bhartiya Parivar Party - Haryana State President Sri A. K. Bhartiya : Students are back home safely from KOTA

Khattar Government meets another demand of Akhil BHartiya Parivar Party ABPP

Akhil Bhartiya Parivar Party - Haryana state president Sri Arun Kaushik Bhartiya raises his voice: The Haryana Government responded.

कोटा राजस्थान में कोचिंग ले रहे छात्रों की सुरक्षित वापसी की हमारी मांग को हरियाणा सरकार ने पूरा किया।
इससे पहले 7 प्राइवेट बैंकों से ई-खरीद के हरियाणा सरकार के निर्णय का हमने विरोध किया था हमारी जनहित की उस मांग को भी हरियाणा सरकार ने माना।
हरियाणा की मंडियों में आढ़ती हड़ताल पर थे हमने सरकार से मांग की थी कि आढ़तियों से बात कर फसल की खरीद चालू की जाये। आढ़तियों से बात करके फसल की खरीद का काम भी हरियाणा सरकार ने चालू करवाया।
हम हरियाणा सरकार के आभारी हैं।
जनहित के मुद्दों पर #खिल_भारतीय_परिवार_पार्टी सदैव आवाज उठाती रहेगी

Akhil Bhartiya Parivar Party ABPP HaryanaAmid this country wide lockdown many persons are stuck in places miles away from their homes.

Travellers, pilgrims, students, businessmen, patients regularly travel across the length and breadth of this country and needs to stay there temporarily too. Many such people are stuck after the sudden lockdown where the government did not plan to first send back everyone to their homes. Due to this very needed but unplanned lockdown - a fight Against Corona virus Covid19 many students from Haryana got stuck in a miserable condition away from their home at KOTA, Rajasthan.
 


    Akhil Bhartiya Parivar Party Haryana demanded that the government must make arrangements to bring the students back home safely. Prior to this ABPP protested against the Haryana Government's decision and declaration dictating to buy E- Tenders from the 7 private banks in the state and owing to the protest the government had to change the decision. A big win for the newly registered party.


AKHIL BHARTIYA PARIVAR PARTY HARYANA ARUN KAUSHIK
Please click here to play the video
अखिल भारतीय परिवार पार्टी के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष अरुण कौशिक भारतीय ने कोटा राजस्थान में लोकडाऊन के कारण फंसे हुए छात्रों व उनके अभिभावकों की परेशानी को देखते हुए 19 अप्रैल को रात 9:00 फेसबुक पर लाईव आकर मुख्यमंत्री हरियाणा से फंसे हुए छात्रों की सुरक्षित वापसी की मांग की थी। फिर 21अप्रैल शाम 5:35 पर श्री मनोहर लाल खट्टर मुख्यमंत्री हरियाणा, शाम 5:47 पर श्री भूपेश्वर दयाल शर्मा मुख्यमंत्री हरियाणा के ओ.एस.डी व शाम 5:56 पर श्री अनिल विज मंत्री हरियाणा को ट्वीट कर कोटा में फंसे हुए छात्रों की सुरक्षित वापसी की मांग की। इसके बाद अप्रैल 22 को अखबार के माध्यम से मुख्यमंत्री हरियाणा से उन छात्रों की सुरक्षित वापसी की मांग की।


अंततः 23 अप्रैल को हरियाणा सरकार को जनहित की इस अखिल भारतीय परिवार पार्टी की मांग पर हरियाणा सरकार ने फैसला लेकर कोटा में फंसे हुए छात्रों की बसों भेजकर छात्रों की सुरक्षित घर वापसी सुनिश्चित की।

इससे पहले प्राइवेट बैंकों में आढ़तियों के खाते खुलवाकर फसल की ई-खरीद करने के मुद्दे पर भी अखिल भारतीय परिवार पार्टी के विरोध के चलते हरियाणा सरकार को कदम वापस लेने पड़े थे।

हरियाणा में आढ़तियों की हड़ताल पर भी अखिल भारतीय परिवार पार्टी ने हरियाणा सरकार से मांग की थी कि हरियाणा सरकार आढ़तियों से बात करके कोई रास्ता निकाले जिससे किसानों की परेशानी दूर हो कल आढ़तियों ने भी हरियाणा सरकार से बात होने के बाद हड़ताल वापस ले ली।

इस तरह हरियाणा में विपक्षी दल जनहित के मुद्दों पर उदासीन रहते हैं तो अखिल भारतीय परिवार पार्टी जिम्मेदारी लेते हुए लगातार जनहित के मुद्दों पर सक्रिय रहती है व उनके समाधान पर भी सरकार पर दबाव बनाती रहती है।
Reactions